Sunday, March 17, 2019

Bazm

-आँखे बन्द करके जो 
प्रेम करे वो 'प्रेमिका'है

-आँखे खोल के जो 
प्रेम करे वो 'दोस्त'है

-आँखे दिखाके जो 
प्रेम करे वो 'पत्नी'है

-अपनी आँखे बंद होने तक जो 
प्रेम करे वो "माँ"है

-परन्तु आँखों में प्रेम न 
जताते हुये भी जो 
प्रेम करे वो "पिता"है 💖
💖🤗
#बज़्म

Tuesday, March 05, 2019

Unite to Face Real World Threats

When you are so focused on internel petty issues and refuse to see the larger threats coming at you. 
A great illustration from the real world👇🏻

Time is....

*"वक़्त हँसाता है वक़्त रुलाता है*
*वक़्त ही बहुत कुछ सिखाता है!*

*वक़्त की कीमत जो पहचान ले*
     *वही मंज़िल को पाता है,*
*खो देता है जो वक़्त को*
     *जीवन भर पछताता है*

*क्योंकि गुजरा हुआ वक़्त*
     *कभी लौटकर नहीं आता है।"*