Sunday, September 23

Temper n Ocean (shayari)

*"मिज़ाज में थोड़ी सख़्ती लाज़मी है हुज़ूर,*

*लोग पी जाते......अगर समंदर खारा न होता..."*

No comments:

Post a Comment